दुनिया की तमाम मुसीबत* *समेट लेती हैं,*

👁👁
                   *आँखे
*
   *दुनिया की तमाम मुसीबत*
             *समेट लेती हैं,*

           *जब रोती है तो*
           *💓दिलो को*
             *हिला देती हैं,*

               *और जब...*
                    *बंद*
               *होती है तो*
                 *दुनिया*
          *को रुला देती हैं...!*



Sponsored ads.

No comments

Powered by Blogger.