Tuesday, January 29, 2019

दुनिया की तमाम मुसीबत* *समेट लेती हैं,*

👁👁
                   *आँखे
*
   *दुनिया की तमाम मुसीबत*
             *समेट लेती हैं,*

           *जब रोती है तो*
           *💓दिलो को*
             *हिला देती हैं,*

               *और जब...*
                    *बंद*
               *होती है तो*
                 *दुनिया*
          *को रुला देती हैं...!*



0 coment�rios:

Post a Comment

Total Pageviews

Categories

Menu :

Developed By Mukesh Galchar - The Freshgujarat