Tuesday, November 27, 2018

जब तक हम अपनी पुरानी गलतियों

,
*जब तक हम अपनी पुरानी गलतियों
को छोड़ने का साहस अपने भीतर पैदा नहीं करेंगे,*

*नई प्रगति की किरण हमारे जीवन में प्रवेश नहीं कर पाएगी ।*

0 coment�rios to “जब तक हम अपनी पुरानी गलतियों”

Post a Comment

 

Shayaribazar Copyright © 2011 | Template design by O Pregador | Powered by Blogger Templates