Monday, November 26, 2018

जो नसीब मे है..* *वो चलकर आयेगा.*

,
*जो नसीब मे है..*
      *वो चलकर आयेगा.*

            *जो नही है..*
 *वो आकर भी चला जायेगा.*
       *जिंदगी को इतना*
       *सीरियस लेने की*
   *जरूरत नही है दोस्तो...*
    *यहाँ से जिंदा बचकर*
      *कोई नही जायेगा..*
         *एक सच
है की.....*
*अगर जिंदगी इतनी अच्छी होती*
      *तो हम इस दुनिया मे*
         *रोते रोते ना आते...*
*लेकिन एक मीठा सच ये भी है*
  *अगर ये जिंदगी बुरी होती*
 *तो हम जाते जाते लोगो को*
         *रुलाकर ना जाते*
             *जी ले आज...*
       *कल किसने देखा हैं ।*

       

0 coment�rios to “जो नसीब मे है..* *वो चलकर आयेगा.*”

Post a Comment

 

Shayaribazar Copyright © 2011 | Template design by O Pregador | Powered by Blogger Templates