हम तो खुशियाँ उधार देने

✍✍✍✍
🌴 *हम तो खुशियाँ
उधार देने का*
           *कारोबार करते हैं,साहब*!
*कोई वक़्त पे लौटाता नहीं*
           *इसीलिए घाटे में चल रहे हैं....*💔
                                                                                                                            *जिंदगी के सफर से बस इतना ही सबक सीखा है* ..
*सहारा कोई - कोई ही देता है धक्का देने को हर शख्स तैयार बैठा है*..🌴🎯