ईमानदारी एक सक्रीय

ईमानदारी एक सक्रीय
क्रिया है न एक निष्क्रिय संज्ञा .सच्चा बनाने के लिए अपने राह से

 बहार आओ और जो बात आप अपने आप से करते हैं उससे शुरुआत करो.

Sponsored ads.

No comments

Powered by Blogger.