Sunday, September 16, 2018

व्यक्ति का चरित्र एक वृक्ष है

,
व्यक्ति का चरित्र एक वृक्ष है और उसका मान-सम्मान एक छाया। लेकिन ये कितने दुःख का विषय है कि हम हमेशा छाया की सोचते हैं, लेकिन असलियत
तो वृक्ष ही है

0 coment�rios to “व्यक्ति का चरित्र एक वृक्ष है”

Post a Comment

 

Shayaribazar Copyright © 2011 | Template design by O Pregador | Powered by Blogger Templates