लगभग हर व्यक्ति जो

लगभग हर व्यक्ति जो किसी आईडिया को विकसित करता है , उसपर तब तक काम करता है जब तक वो असंभव न लगने लगे , और तब वो निराश हो जाता है . ये वो जगह नहीं जहाँ निराश
हुआ…