Sunday, September 16, 2018

समस्या आने पर न्याय

,
*समस्या आने पर न्याय नहीं समाधान होना चाहिये।*
*क्योंकि न्याय में एक के घर दीप जलते है, तो दूसरे के घर अँधेरा होता है।*

*मगर समाधान
में दोनों के घर दीप जलते है।*

            

0 coment�rios to “समस्या आने पर न्याय”

Post a Comment

 

Shayaribazar Copyright © 2011 | Template design by O Pregador | Powered by Blogger Templates