समस्या आने पर न्याय

*समस्या आने पर न्याय नहीं समाधान होना चाहिये।*
*क्योंकि न्याय में एक के घर दीप जलते है, तो दूसरे के घर अँधेरा होता है।*

*मगर समाधान
में दोनों के घर दीप जलते है।*