Wednesday, August 8, 2018

मिट्टी* का *मटका* और

,
" *मिट्टी* का *मटका*
 और
 *परिवार* की *कीमत*

 सिर्फ *बनाने* वाले को पता होती है , *तोड़ने* वाले को नहीं।"

*संघर्ष पिता से सीखिये..!*
*संस्कार माँ से सीखिये...!!*

_बाकी सब कुछ दुनिया सिखा देगी...!!!_
🌼🌼🌼🌼🌼🌼🌼🌼🌼🌼🌼🌼🌼🌼🌼
________________________________                                 🌹🌼🌻🍀🌾🌿🍁🌹🌼

       *_"ज़िन्दगी" बदलने के लिए_*
*लड़ना पड़ता है..!_*
         *_और आसान करने के लिए_*
*समझना पड़ता है..!*
      *_वक़्त आपका है,चाहो तो_*
         *सोना बना लो और चाहो तो.*   
*_सोने में गुज़ार दो..!_*
        *अगर कुछ अलग करना है तो*
   *_भीड़ से हटकर चलो..!_*
  *भीड़ साहस तो देती है पर*
   *_पहचान छीन लेती है...!_*
       *मंज़िल ना मिले तब तक हिम्मत*
         *_मत हारो और ना ही ठहरो...._*
 _क्योंकि_
*_पहाड़ से निकलने वाली नदि यों ने_*
     *आज तक रास्ते में किसी से नहीं पूछा कि... _*
         *"समन्दर कितना दूर है.*                                 
 🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹 ________________________________💤💫 *बहुत सुन्दर सन्देश* 💫💤

*एक चिड़िया ने मधुमक्खी से पूछा कि तुम इतनी मेहनत से शहद बनाती हो और इंसान आकर उसे चुरा ले जाता है, तुम्हें बुरा नहीं लगता ??*
🌺🌾🍁🍂🍃💐
*मधुमक्खी ने बहुत सुंदर जवाब दिया :*
*इंसान मेरा शहद ही चुरा सकता है पर मेरी शहद बनाने की कला नहीं !!*
🌾🍁🍂🍃🌷🌸🌻
*कोई भी आपका Creation चुरा सकता है पर आपका Talent (हुनर) नहीं ....*✍
🌻🌻🌻🌻🌻
       *नेक लोगों की संगत से*
    *हमेशा भलाई ही मिलती हे,*
                  *क्योंकि....*
   *हवा जब फूलो से गुज़रती हे,*
 *तो वो भी खुश्बुदार हो जाती हे.
🌹🌹🌹🌹🌹🌹
🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷


0 coment�rios to “मिट्टी* का *मटका* और”

Post a Comment

 

Shayaribazar Copyright © 2011 | Template design by O Pregador | Powered by Blogger Templates