Friday, August 3, 2018

काँटों पर चलकर फूल खिलते हैं*

,
*काँटों पर चलकर फूल खिलते हैं*
       *विश्वास पर चलकर*
       *भगवान .. मिलते हैं*

*एक बात सदा याद रखना दोस्त*
     
  *सुख में सब मिलते है, लेकिन*
             *दुख में सिर्फ*
        *अपने ही .. मिलते है*
  🌷

0 coment�rios to “काँटों पर चलकर फूल खिलते हैं*”

Post a Comment

 

Shayaribazar Copyright © 2011 | Template design by O Pregador | Powered by Blogger Templates