Sunday, August 5, 2018

सब के दिलों का

,
❤🍃❤🍃❤🍃❤🍃❤
*सब के दिलों का*
         *एहसास अलग होता है* ...
*इस दुनिया में सब का*
           *व्यवहार अलग होता है* ...
*आँखें तो सब की*
           *एक जैसी ही होती है* ...
*पर सब का देखने का*
           *अंदाज़ अलग होता है* ...

          👏 *।। सुप्रभात।।*👏

0 coment�rios to “सब के दिलों का”

Post a Comment

 

Shayaribazar Copyright © 2011 | Template design by O Pregador | Powered by Blogger Templates