Monday, August 13, 2018

लक्ष्मी *अगर

,
.          """" *लक्ष्मी*""""
                   *अगर*
         *मेहनत से मिलती, तो*
.               *मजदूरों*
           *के पास क्यों नही..?*
           *बुद्धि से मिलती तो,*
       *चालाक और चतुरों*
           *के पास क्यों नही..?*
          *ताकत से मिलती तो,*
               *पहलवानों*
         *के पास क्यों नही...😊*
*लक्ष्मी सिर्फ "पुण्य"  से मिलती है और पुण्य केवल "धर्म" "कर्म" "निःस्वार्थ सेवा"से ही मिलता है*
        *🙏सुप्रभात्🙏*
*🌹आप का दिन मंगलमय हो🌹*

0 coment�rios to “ लक्ष्मी *अगर”

Post a Comment

 

Shayaribazar Copyright © 2011 | Template design by O Pregador | Powered by Blogger Templates