उपलब्धि से अधिक

उपलब्धि से अधिक और कोई भी चीज आपके अन्दर आत्म-सम्मान  और  आत्मविश्वास नहीं पैदा करती