भक्ति जब बुद्धि से होती है तो

*भक्ति जब बुद्धि से होती है तो,*

*हमारी जुबान सुधरती है।*


*लेकिन भक्ति जब दिल से होती है तो,*

*हमारे कर्म सुधरते हैं ।।*
      *सुप्रभात*