Thursday, May 31, 2018

शब्द शब्द बहु अंतरा

*शब्द शब्द बहु अंतरा, शब्द के हाथ न पांव।*
*एक शब्द करे औषधि, एक शब्द करे घाव।।*

*शब्द सम्भाले बोलिये, शब्द खीँचते ध्यान।*
*शब्द मन घायल करे, शब्द बढाते मान।।*

*शब्द मुँह से छूट गया, शब्द न वापस आय।*
*शब्द जो हो प्यार भरा, शब्द ही मन मेँ समाएँ।।*

            *सुप्रभात*🙏🏻🚩

0 coment�rios:

Post a Comment

Total Pageviews

Categories

Menu :

Developed By Mukesh Galchar - The Freshgujarat