मान लेते हैं कि,* *किस्मत में लिखे फैसले

*मान लेते हैं कि,*
*किस्मत में लिखे फैसले*
*बदला नहीं करते.*
*लेकिन*
*आप फैसले तो लीजिये,*
*क्या पता,*
*किस्मत ही बदल जाय
Sponsored ads.

No comments

Powered by Blogger.